Breaking News
Home / अंतरराष्ट्रीय समाचार / India / अंग्रेजी में महाभारत के सभी अनुवाद संक्षिप्त हैं और इनमें कई विवरण गायब हैं : विवेक देवराॅय
Bibek Debroy, (EAC-PM)

अंग्रेजी में महाभारत के सभी अनुवाद संक्षिप्त हैं और इनमें कई विवरण गायब हैं : विवेक देवराॅय

नई दिल्ली । अंग्रेजी में महाभारत के सभी अनुवाद संक्षिप्त हैं और इनमें कई विवरण गायब हैं और इनमें सब कुछ ब्लैक एंड व्हाइट में पेश किया गया है और कई सूक्ष्म जानकारियां गायब हैं। ..ये उक्त बातें प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार परिषद् के चेयरमैन विवेक देवराॅय ने इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में इंडिक एकेडमी द्वारा आयोजित ‘द आर्ट एंड हिस्ट्री आॅफ ट्रांसलेशंस फ्राॅम संस्कृत’ विषयक कार्यक्रम के दौरान कही। ज्ञात हो कि विवेक देवराॅय ने महाभारत का संस्कृत से अंग्रेजी में अनुवाद किया है। उन्होंने भगवद गीता, हरिवंश, वेद और वाल्मीकि रामायण का भी अनुवाद किया है।

पदमश्री विजेता, अर्थशास्त्र, राजनीति और भारतीय इतिहास एवं संस्कृति के क्षेत्र में अनेक पुस्तकों के लेखक देवराॅय ने आगे कहा, ‘संस्कृत में प्रशिक्षित किसी व्यक्ति का अहम पृष्ठभूमि में दिखता है। कोई भी अनुवाद अभिव्यक्ति की सुंदरता को बयां नहीं कर सकता।’

संस्कृत वक्ताओं और पाठकों की जरूरत पर जोर देते हुए देवराॅय ने कहा कि एक राष्ट्र के तौर पर हमने न सिर्फ संस्कृत को खोया है बल्कि स्थानीय भाषाओं की पहचान भी धूमिल हुई है। इन भाषाओं का ज्ञान हमें संस्कृत को अच्छी तरह समझने में मददगार साबित हो सकता है। हमने ज्ञान के कौन से स्वरूपों को खोया है, इसका अनुमान लगाना संभव नहीं है, क्योंकि मौखिक प्रसारण की प्रक्रिया समाप्त हो गई है।

संस्कृत कविताओं और उनके अर्थों के कई उदाहरण देते हुए देवराॅय ने अनुवाद के दौरान भाषा की सुंदरता को दर्शाने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा, ‘बड़ी तादाद में सामग्री का अभी तक अनुवाद नहीं हुआ है, इसके बावजूद हम इनके अनुवाद की कोशिश नहीं कर रहे हैं। इन सामग्री का अनुवाद करने की जिम्मेदारी हम पर है।’

उन्होंने भर्तृहरि की प्रख्यात पंक्तियों समेत विभिन्न संस्कृत कार्यों के दिलचस्प उदाहरणों को देते हुए उन्होंने कहा कि ‘यह दुःखद है कि हम संस्कृत के कार्यों और उनके लेखकों के बारे में कुछ नहीं जानते हैं, लेकिन जीवन की विडंबना है की जो लोग संस्कृत से जुड़े कार्यों में लीन थे, उनको मैं शब्द में कोई रूचि नहीं थी।’

इस अवसर पर लेखक संजीव सान्याल एवं भारत सरकार में वित्त मंत्रालय के मुख्य आर्थिक सलाहकार और इंडिक एकेडेमी के राष्ट्रीय संयोजक विपुल कोचर भी उपस्थित थे।

Check Also

IYC2018

International Youth Conclave 2018 kicked off at Kathmandu

Kathmandu. Setubandh, Teenage society Nepal, South Asia Partnership and KMC network jointly organized International Youth Conclave ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *